Drop Down Menu Gariaband Police

जिला गरियाबंद- वीरता पदक
दिनांक 31.05.2012 को सीपीआई माओवादी मैनपुर डिवीजन के प्रतिबंधित वर्दीधारी सशस्त्र नक्सलियों की आमद रप्त की सूचना पर उप निरीक्षक नितिन उपाध्याय हमराह आरक्षक, सहायक आरक्षक, एसटीएफ प्रभारी कंपनी कमाण्डर देवेन्द्र कश्यप व एसटीएएफ के अन्य बल जिला गरियाबंद इकाई के थाना शोभा क्षेत्रान्तर्गत ग्राम गौरगांव के झोलाराव पहाड़ी क्षेत्र में नक्सल आॅपरेशन हेतु रवाना हुआ था। सर्चिंग के दौरान मुखबीर से सूचना मिला कि झोलाराव पहाड़ी में नक्सली देखे गये है। तस्दीकी हेतु झोलाराव पहाड़ी पर गया, जहाॅं पहले से घात लगाकर बैठे नक्सली पुलिस पार्टी को देखकर फायरिंग करने लगे। पुलिस बल द्वारा अपने आत्मरक्षार्थ जवाबी कार्यवाही किया गया। पुलिस बल के जवाबी कार्यवाही से घबराकर नक्सली एक-दूसरे का नाम क्रमशः कार्तिक, ललिता, सुखेदव, रती, कैलाश, ज्योति, अमीला, सीमा, जानी, सत्यम, गीता, अरूण, टिकेष, जयसिंह, शिवाजी, सेवक, रामदास, सुरेन्द्र, राजू आदि लेते जंगल की ओर भाग गये। पुलिस बल फायरिंग उपरांत वस्तुस्थिति को भांपते हुये घटना स्थल का सर्चिंग किया गया। सर्चिंग के दौरान 01 वर्दीधारी महिला नक्सली का शव बरामद किया गया। जिसके पास इंसास रायफल बट नं. 143/4थी बिएन बट नं. 1692, 824 एवं 02 नग मैग्जीन मय कारतूस 35 नग एवं अन्य उपयोगी सामग्री 315 बोर देषी कट्टा, 315 बोर 35 कारतूस, 01 खाली केष, 01 नग मेटारोला सेट, डेटानेटर 5 नग, मल्टीमीटर 1 नग, 02 चार्जर, सुतली बम 2 नग, टिफिन बम 03 कि0ग्रा0 और कुछ दूरी पर 01 और वर्दीधारी महिला नक्सली का शव बरामद किया गया, जिसके पास 01 बारह बोर सिंगल बैरल रायफल मिला। दोनों सशस्त्र वर्दीधारी महिला नक्सली को अमीला, डिवीजन सी0एन0एम0 यूनिट सचिव तथा समीरा, नगरी एरिया कमेटी सेके्रट्री के नाम से पहचाना गया। नक्सलियों का यह कृत्य अपराध धारा 307, 147, 148, 149 भादवि 25, 27 आम्र्स एक्ट एवं 26, 23 वि0वि0क्रि0नि0 अ0 का अपराध पाये जाने से थाना शोभा में अपराध क्रमांक 03/12 तथा मर्ग क्र0 03/12 एवं 04/12 कायम किया गया। इस प्रकार दिनांक घटना को उप निरीक्षक नितिन उपाध्याय एवं कंपनी कमाण्डर देवेन्द्र कश्यप एसटीएफ के द्वारा कम स्टाफ के साथ भीषण गर्मी में जंगल एवं पहाड़ी में अपने अच्छी सूझबूझ एवं वीरता के साथ नक्सलियों से मुठभेड़ कर सशस्त्र माओवादी नक्सल अमिला एवं सीमा उर्फ समीरा को मुठभेड़ के दौरान मार गिराया साथ ही उनके कब्जे से आम्र्स एम्युनेशन व अन्य विस्फोटक सामग्री तथा दैनिक चीजों को बरामद करने में सफलता प्राप्त किया गया। जिसके फलस्वरूप उप निरीक्षक श्री नितिन उपाध्याय को निरीक्षक के पद पर क्रम से पूर्व पदोन्नति व राष्ट्रपति पदक प्रदान किया गया है तथा कंपनी कमाण्डर श्री देवेन्द्र कश्यप एसटीएफ को भी राष्टपति पदक प्रदान किया गया है।